इस वजह के चलते पूरे 40 मिनट तक बीच स्टेशन पर खड़ी रही ट्रेन, सुनकर आप भी चौंक जाएँगे !

ट्रेन में सफ़र करते हुए लोगों की परेशानी तब बढ़ जाती है जब उन्हें किसी जरूरी काम से कहीं जाना हो और ट्रेन किसी कारण रुक जाती है. हाल ही में एक ऐसा ही मामला सामने आया है जहाँ लोगों को देर रात ऐसी ही परेशानी का सामना करना पड़ा. दरअसल, देर रविवार रात दिल्ली से हावड़ा जाने वाली सियालदह ट्रेन अचानक ही दादरी रेलवे स्टेशन पर रुक गयी. यह ट्रेन 5 या 10 मिनट के लिए नहीं बल्कि 40 मिनट तक रुकी रही.जिसकी वजह से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा. चलिए जानते हैं क्या है पूरा मामला…

देर रात सियालदह एक्सप्रेस ट्रेन को रोक दिया गया (image source)

रविवार को देर रात बीच स्टेशन पर रुकी ट्रेन

इस ट्रेन में बैठी एक गर्भवती महिला ‘गया’ जा रही थी कि अचानक देर रात उसको प्रसव पीड़ा होने लगी. जैसे ही सी बात की खबर वहां के रेल कर्मचारियों को लगी तो उन्होंने बिना कुछ सोचे ट्रेन को बीच स्टेशन पर रोक दिया और फिर उस महिला को सभी सुविधा उपलब्ध करवाई. इस बीच ट्रेन को करीब 40 मिनट तक स्टेशन पर रोकना पड़ा.

देर रात ट्रेन में महिला को हुआ प्रसव पीड़ा (image source)

गर्भवती महिला के प्रसव कारण 40 मिनट तक ट्रेन को स्टेशन पर रोका 

बता दें कि बिहार के शेखूपुर के रहने वाले सुनील महतो नाम का ये शख्स अपनी पत्नी रीता के साथ इस ट्रेन में सवार होकर ‘गया’ की ओर जा रहे थे. जब ट्रेन गाजियाबाद स्टेशन से गुज़र रही थी कि अचानक उनकी पत्नी को प्रसव पीड़ा होने लगी. इस बात की सूचना उनके पति ने रेल कर्मचारियों को दी. जिसके बाद उन्होंने तुरंत इस बात की सूचना अगले दादरी स्टेशन के प्रभारी को दी.

ट्रेन में महिला ने दिया बच्चे को जन्म (image source)

महिला ने ट्रेन में दिया बच्चे को जन्म 

उस जगह पर ट्रेन का स्टॉप नहीं था लेकिन फिर भी प्रभारी ने महिला कि हालत को देखते हुए दादरी स्टेशन पर ही ट्रेन को रुकवा दिया. ट्रेन के आते ही मौके पर एेंबुलेंस के साथ वहां एक महिला डॉक्टर भी पहुंची और फिर उसने महिला का ट्रेन में ही प्रसव करवाया. उसके बाद महिला ने एक स्वस्थ बेटे को जन्म दिया. इस बीच ट्रेन को 40 मिनट तक स्टेशन पर ही रुकना पड़ा.

ट्रेन के रुकने पर लोग काफी गुस्से में आ गए थे. पर जैसे ही लोगों को ट्रेन की रुकने की वजह पता चली तो सभी लोगों को चेहरे में काफी ख़ुशी दिखाई दी. महिला के डिलीवरी के बाद उन्हें रात भर डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया और फिर अगले दिन महिला को सही सलामत ‘गया’ भेज दिया गया.

NEWS SOURCE

Leave a Reply

Top