You are here

सालों से बंद जब इस 2000 साल पुराने वेश्यालय को खोला गया तो अन्दर मिली हैरान करने वाली चीजें

आज के समय में कई देशों में वेश्यालय को क़ानूनी मान्यता प्राप्त है तो वहीँ कुछ देशों में अभी भी इसपर प्रतिबन्ध लगा रखा है. असल में वेश्यालय को दुनिया का सबसे पुराना धंधा कहा जाता है. देखा जाए तो समय के साथ-साथ जहाँ इस धंधे में सभ्यता की प्रगति हुई है तो वहीँ इसका रूप भी बदला है. खैर भारत में तो देहव्यापार गैरकानूनी नहीं है, लेकिन फिर भी यहाँ वेश्यालय के ज़रिये लड़कियों की दलाली को कानूनन अपराध माना जाता है. वहीँ कुछ देशों में तो ये धंधा वैध्यता प्राप्त है.

फिलिपींस और थाईलैंड जैसे देशों की अगर बात करें तो ये देश ऐसे हैं जहाँ वेश्यालयों का जिक्र उनकी बाइबल में भी मिलता है. इतना ही नहीं आपको जानकर हैरानी होगी कि प्राचीन काल में तो इजरायल में वेश्यावृति को मूक सहमती प्राप्त थी और दुसरे विश्वयुद्ध के समय तो जापानी सैनिक महिलाओं को जबरदस्ती इस धंधे में धकेल देते थे, और इस धंधे में धकेली जाने वाली महिलाएँ ज्यादातर चीन और कोरिया की हुआ करती थीं.

वैसे तो देह व्यापार के लिए एम्स्टर्डम का रेड लाइट एरिया दुनिया के सबसे मशहूर इलाकों में से एक गिना जाता है. आप देखेंगे कि वैसे तो दूसरे देशों में लोग ऐसी जगाहों पर छुप-छुपकर जाते हैं ततो वहीँ इस देश में खुलेआम लोग जाते हैं वो भी एक ही मकसद से.

सभी लोग इस बात से तो परिचित होंगे ही कि इटली की सभ्यता दुनिया की सबसे पुरानी सभ्यताओं में से एक है. आपको बता दें कि आज से लगभग 2000 साल पहले पक्षिमी इटली का शहर पोम्पेइ एक भयानक ज्वालामुखी की वजह से दब गया था. इसके बाद साल 1748 में जब उस जगह की खुदाई की गयी तो पूरा शहर मिल गया. इस शहर में कई लोगों की संपत्ति भी पायी गयी और उन्ही में से पोम्पेइ में एक मशहूर वेश्यालय भी था, जिसे साल 2006 में आम जनता के लिए खोल दिया गया और अब इस प्राचीन वेश्यालय में कुल 10 कमरे बने हुए हैं और सभी कमरों में पत्थर के बेड रखे हुए हैं.

जब 2006 में वेश्यालय खोला गया तो वहाँ कई नग्न पेंटिंग्स भी पायी गयी. इसी बात से बता चलता है कि उस समय पोम्पेइ में देह व्यापार का धंधा किस तरह से होता था. एक रिसर्च की माने तो कहा जाता है कि पोम्पेइ में देह व्यापार क़ानूनी नहीं था, लेकिन फिर भी वहाँ वेश्याओं को सेक्स गुलाम की तरह रखा जाता था और वहां के पुरुष कई महिलाओं के साथ सम्बन्ध बना सकते थे लेकिन वहीँ अगर बाद शादीशुदा महिलाओं की हो तो उन्हें केवल अपने पति से ही संबंध रखने की इजाजत थी.

Top